पीएनबी घोटाले का मुख्य आरोपी है नीरव 

13700 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी (48) को बुधवार को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया। होलबोर्न मेट्रो स्टेशन से नीरव की गिरफ्तारी हुई। उसे वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया गया। नीरव जमानत की अर्जी दाखिल की थी, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया। उसे 9 दिन हिरासत में रहना होगा। अगली सुनवाई 29 मार्च को होगी। इसी अदालत ने उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और सीबीआई के अधिकारी अगले हफ्ते नीरव के प्रत्यर्पण से जुड़े कागजात लेकर लंदन रवाना होंगे। 

 

ईडी नीरव की 173 पेंटिंग्स और 11 कारें नीलाम करने के लिए पीएमएलए कोर्ट से मंजूरी ले चुका है। रॉल्स रॉयस, पोर्शे, मर्सिडीज और टोयोटा फॉर्च्यूनर गाड़ियां शामिल हैं। उधर, पीएमएलए कोर्ट ने नीरव की पत्नी एमी मोदी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया है। इससे पहले मुंबई की विशेष अदालत ने हाल ही में नीरव मोदी की पत्नी एमी के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया था। 


टेलीग्राफ के मुताबिक, नीरव लंदन के वेस्ट एंड इलाके में 72 करोड़ रुपए के अपार्टमेंट में रह रहा है। इसके लिए हर महीने 15.5 लाख रुपए किराया चुका रहा है। वह हीरे का बिजनेस भी कर रहा है।


नीरव मोदी पर मेहुल चौकसी के साथ मिलकर 13700 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने का आरोप है। इस मामले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय जांच कर रहे हैं। दोनों के खिलाफ मुंबई की विशेष अदालत में भी मामला चल रहा है।

 

प्रवर्तन निदेशालय प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएलएए) के तहत नीरव की 1,873.08 करोड़ रुपए की संपत्ति अटैच कर चुका है। नीरव और परिवार से जुड़ी 489.75 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त भी की जा चुकी है।


हाल ही में अंग्रेजी अखबार टेलीग्राफ ने नीरव मोदी का वीडियो जारी कर खबर दी थी कि उसने लंदन में हीरे का बिजनेस शुरू कर दिया है। इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 9 मार्च को कहा था कि नीरव के भारत प्रत्यर्पण की अपील पर यूके के गृह सचिव ने वहां की अदालत में कानूनी प्रक्रिया शुरू करने की मंजूरी दे दी है। सीबीआई ने एक दिन पहले ही कहा है कि नीरव के प्रत्यर्पण मामले पर नजर रखी जा रही है।

-वेबवार्ता 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सब्सक्राइब ' गंभीर समाचार ' न्यूज़लेटर