ऐश किंग के चमत्कृत प्रदर्शन ने रिस्ट-यूएसटीएम के विद्यार्थियों को किया मोहित

री-भोई(मेघालय)।  रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी(रिस्ट) के
वार्षिक तकनीकी समारोह एस्प्लेंडिडेज- 2019 का यहां भव्य आयोजन हुआ। इस
अवसर पर बॉलीवुड सिंगिंग सेंसेशन ऐश किंग की ओर से दिलों को झंकृत करने
वाला एक लाइव प्रदर्शन हुआ।


समारोह में रिस्ट और यूएसटीएम के तकरीबन चार हजार विद्यार्थियों ने भाग
लिया। यह पहली बार था जब ऐश किंग ने मेघालय की मनमोहक पहाड़ियों के बीच
आयोजित इस विशिष्ट समारोह में अपना मनमोहक प्रदर्शन किया। उनकी शानदार
प्रस्तुति को लेकर दर्शक काफी उत्साहित दिखे।


ऐश किंग ने मंच पर कदम रखते ही बड़ी संख्या में मौजूद दर्शकों को अपने
सुरों के जादू से बांध लिया। उनके गाए गाने ये मौसम की बारिश ने तो वहां
मौजूद तमाम दर्शकों, जिनमें अति विशिष्ट अतिथि भी शामिल थे, को अपने
मोहपाश में बांध लिया।
इसके पहले समारोह की शुरुआत सुबह 6 बजे “यूनिटी रन” के साथ हुई। उसमें
बड़ी संख्या में विद्यार्थियों े भाग लिया। उक्त अवसर पर आईपीेएस पल्लब
भट्टाचार्य को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था। फ्लैग ऑफ से
पहले उन्होंने हमारे जीवन में समाज के महत्व पर जोर देते हुए बतौर
विद्यार्थी युवाओं को एक बेहतर समाज बनाने में अहम भूमिका निभाने का
संदेश दिया।


यूनिटी रन असम सचिवालय से बेलतोला बैठा रोड से शुरू होकर बेलतोला बशिष्ठ
रोड होते हुए एपीएससी बिल्डिंग खानापाड़ा पहुंची। बाद में सुबह आईआईएचटी
असम के प्रमुख आशीष बनर्जी ने उद्घाटन भाषण दिया और  परिसर में उक्त
उत्सव का ध्वज फहराया। अपने उद्घाटन भाषण में उन्होंने विविधता में एकता
के महत्व को व्यक्त किया।

मेघालय में पहली बार यूएसटीएम को फार्मेसी पाठ्यक्रम शुरू करने की अनुमति

री-भोई(मेघालय)।  भारतीय फार्मेसी परिषद ने पहली बार में मेघालय राज्य
में फार्मेसी विज्ञान के पाठ्यक्रम को चलाने की अनुमति दी है। आगामी
जुलाई से शुरू होने वाले नए सत्र से यह पाठ्यक्रम यूएसटीएम में प्रारंभ
किया जाएगा।
विवि के कुलाधिपति महबूबुल हक ने पत्रकारों को बताया कि इस पाठ्यक्रम के
शुरू होने से मेघालय के युवाओं तथा आम लोगों को बहुत लाभ मिलेगा। साथ ही
इससे क्षेत्र में उद्यमिता को बढ़ावा मिलेगा। क्योंकि किसी को भी फार्मेसी
खोलने के लिए इसमें शैक्षिक स्तर पर दक्ष होना आवश्यक है।
उन्होंने पाठ्यक्रम की अनुमति मिलने में मेघालय सरकार की ओर से संस्थान
को मिली मदद के लिए आभार व्यक्त किया है। उन्होंने भरोसा दिया है कि इस
पाठ्यक्रम में शामिल होने वाले विद्यार्थियों को मार्गदर्शन के लिए दक्ष
शिक्षक नियुक्त किए जा रहे हैं।
संस्थान की जन संपर्क अधिकारी डॉ. रानी पाठक दास के मुताबिक विवि में
अगले शिक्षण सत्र से नर्सिंग कोर्स की शुरुआत भी की जाएगी। इस बीच पीए
संगमा इंटरनेशनल मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल खोलने की दिशा में संस्थान ने
महत्वपूर्ण कदम आगे बढ़ाए हैं। समूचे पूर्वोत्तर भारत में अपनी तरह का यह
पहला सुपरस्पेशिएलिटी मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सब्सक्राइब ' गंभीर समाचार ' न्यूज़लेटर